Sad shayari | sad hindi shayri | Breakup shayari

 

Sad shayari | sad hindi shayri | Breakup shayari



Mujhe Kismat Se Shiqwa To Nahi Lekin Ai Khuda,
Wo Zindagi Mein Kyun Aaya Jo Kismat Mein Nahi Tha.



Zindgi Se Meri Aadat Nahi Milti,
Mujhe Jeene Ki Surat Nahi Milti,
Koyi Mera Bhi Kabhi Humsafar Hota,
Mujhe Hi Kyun Mohabbat Nahi Milti.


ज़िन्दगी से मेरी आदत नहीं मिलती,
मुझे जीने की सूरत नहीं मिलती,
कोई मेरा भी कभी हमसफ़र होता,
मुझे ही क्यूँ मुहब्बत नहीं मिलती।




Teri Halat Se Lagta Hai Tera Apna Tha Koyi,
Itni Saadgi Se Barbaad Koyi Gair Nahi Karta.


तेरी हालत से लगता है तेरा अपना था कोई,
इतनी सादगी से बरबाद कोई गैर नहीं करता।




Mujhe Yakeen Hai Mohabbat Uss Ko Kehte Hain,
Ki Zakhm Taza Rahe Aur Nishan Chala Jaye.


मुझे यकीन है मोहब्बत उसी को कहते हैं,
कि जख्म ताज़ा रहे और निशान चला जाये।




Tazurba Kehta Hai,
Mohabbat Se Kinara Kar Lu,
Aur Dil Kehta Hai,
Yeh Tazurba Dobara Kar Lu.


तजुर्बा कहता है,
मोहब्बत से किनारा कर लूँ,
और दिल कहता है,
ये तज़ुर्बा दोबारा कर लूँ।


 







दुख इस बात का नहीं, कि तुम मेरी ना हुई. 
दुख  इस बात का है, तुम यादों से ना गयी !!


Dukh Is Baat Ka Nahin, Ki Tum Meri Na Hui. 
Dukh Is Baat Ka Hai, Ki Tum Yaadon Se Na Gayi.




Roj Dhhalti Hui Shaam Se Darr Lagta Hai,
Ab Mujhe Ishq Ke Anjaam Se Darr Lagta Hai,
Jab Se Mila Hai Dhokha Iss Ishq Mein,
Tab Se Ishq Ke Naam Se Bhi Darr Lagta Hai.


रोज ढलती हुई शाम से डर लगता है,
अब मुझे इश्क के अंजाम से डर लगता है,
जब से मिला है धोखा इस इश्क़ में,
तब से इश्क़ के नाम से भी डर लगता है।




Wo Tere Khat Teri Tasvir Aur Sookhe Phool,
Udaas Karti Hain Mujh Ko Nishaniyan Teri.


वो तेरे खत तेरी तस्वीर और सूखे फूल,
उदास करती हैं मुझ को निशानियाँ तेरी।




तेरे बदलने का दुःख नहीं है मुझको
मैं तो अपने यकीन पर शर्मिंदा हूं !!


Tere Badalne Ka Dukh Nahin Hai Mujhko
Main To Apne Yaqeen Par Sharminda Hun !!





कितना पागल है ये दिल कैसे समझाऊँ इसे, 
कि जिसे तू खोना नही चाहता है, 
वो तेरा होना नही चाहता है !!


Kitna Pagal Hai Ye Dil Kaise Samjaoun Isey,
Ki Jisey Too Khona Nahin Chahta 
Wo Tera Hona Nahin Chahta !!



Woh Mera Sab Kuchh Hai Par Muqaddar Nahi,
Kaash Wo Mera Kuchh Na Hota Par Muqaddar Hota.


वह मेरा सब कुछ है पर मुक़द्दर नहीं,
काश वो मेरा कुछ न होता पर मुक़द्दर होता।




Mil Bhi Jate Hain Toh Katra Ke Nikal Jate Hain,
Hain Mausam Ki Tarah Log.... Badal Jaate Hain,
Hum Abhi Tak Hain Giraftar-e-Mohabbat Yaaro,
Thokarein Kha Ke Suna Tha Ke Sambhal Jate Hain.


मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग... बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।



कितने दुख देते हो, 
थक तो नहीं जाते। 


Kitane Dukh Dete Ho, 
Thak To Nahin Jaate.




चेहरों को बेनक़ाब करने में,
ए बुरे वक़्त तेरा हज़ार बार शुक्रिया। 


Cheharon Ko Benaqaab Karane Mein, 
E Bure Waqt Tera Hazaar Baar Shukriya.




बहुत दर्द देती हैं तेरी यादें 
सो जाऊं तो जगा देती हैं 
जग जाऊं तो रुला देती हैं !!


Bahot Dard Deti Hain Teri Yaden
So Jaoun To Jaga Deti Hain
Jag Jaoun To Rula Deti Hain !!




Dekhi Hai Berukhi Ki Aaj Humne Intehaan,
Hum Pe Najar Padi Toh Mehfil Se Uthh Gaye.


देखी है बेरुखी की आज हम ने इन्तेहाँ,
हमपे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए।



Also you may like to visit 👇


Love shayari


Unlimited whatsapp groups


Latest whatsapp groups.


Comments

Popular Posts